All 50 famous Gulzar shayari in hindi

नमस्कार दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम gulzar shayari पढ़ेंगे । क्या आप गुलजार को जानते है ? नाही तो आज इस पोस्ट में आप उनसे और उनके शायरी से भी मुलाकात कर लेंगे ।

Gulzar, नाम से कौन वाकिफ नहीं है..? इनका नाम सुनते ही लोगो को shayari याद आती है। इनकी इतनी शायरी फेमस है। और इनका रियल नेम काफी लोगो को मालूम नहीं होगा। But don’t worry में आपको बताऊंगा। 

इनका ( गुलजार साहबreal Name sampooran Singh kalra है। लेकिन अपने professional period me Gulzar Name se ही famous है। ये multi-talented Person थे। Indian poet, lyricist, author, screenwriter, and film director known for his works in Hindi cinema.

इनकी shayari का बोल बाला बहुत ही अलग है। इन्होंने जो अपने अंदाज में जीवन की सचाई को शब्दो में लिखा है । जिसे पढ़ कर एक बार मैं इनकी shayari का मोल समझ सकते है। और काफी रिलेट करती है आज के समय मैं भी । Gulzar shayari या gulzar sahab naame से अनेक पेज देखें होंगे लेकिन वो भी gulzar sahab ki shayari nhi dalte है । काफी shayari वो यह वहा से किसी और shayar की कॉपी कर देते है। 

Aaj उनकी फेमस shayari ka ek collection लेके आए है। ये बहतरीन शायरी aapko ज़िंदगी की reality so kregi। I hope you all loved it……!!!!

 

Gulzar shayari in hindi

 

तेरे जाने से कुछ बदला तो नहीं,

रात भी आई थी और चाँद भी, मगर नींद नहीं। 

 

Tere jaane se kuch badala to nahi,

Raat bhi ayi thi, aur chand bhi, magae nind nhi..!!

 

Gulzar shayari Dosti pyar

 

एक खूबसूरत सा रिश्ता खत्म हो गया

हम दोस्ती निभाते रहे और उसे इश्क़ हो गया।

 

Ek khubsurat sa rishta khatm ho gaya,

Hum dosti nibhate rahe aur use ishq ho gaya..!!

 

हाथ छूटे भी तो रिश्ते तोड़ा नही करते,

वक्त को साख से लम्हे तोड़ा नही करते..!!  

 

Hath chhute bhi to rishte toda nahi karte,

Waqt ko sakh se lamhe toda nahi karte…!!

 

Gulzar shayari

 

में दिया हूं,

मेरी दुश्मनी तो अंधेरे से है,

हवा तो बेवजह ही मेरे खिलाफ है..!! 

 

Main diya hoon,

Meri dushmni to andhere se hai…

Hawa to bevajah hi mere khilaf hai..!!

 

नाराज हमेशा खुशियां ही होती है,

गमों के इतने नखरे नही रहे..!! 

 

Naraz hamesha khushiya hi hoti hai,

Gamon ke time nakhre nhi rahe…!! 


Read More 

famous shayari Rahat Indori

Kumar vishwas kavita hindi

Kahna kamboj Tera dimag kharab hai


Two line Gulzar shayari

 

हसता तो में रोज हूं, लेकिन 

खुश हुए मुझे ज़माना हो गया..!! 

 

Hasta to me roj hoon, lekin

Khush huye mujhe zamana ho gaya..!!

 

सहमा सहमा डरा सा रहता है।

जाने क्यू जी भरा सा रहता है । 

 

Sahma sahma Dara sa rahta hai,

Jane kyu jee bhara sa rhata hai..!!

 

Heart touching Gulzar shayari 

 

में छुपके से टूटा था।

आंसू करते तो शोर हो जाता..!!

 

Main chhupake se tuta tha,

Aansu girte to shor ho jata..!!

 

कहा से लाउ मैं इतने सब्र,

थोड़े से तुम मिल क्यो नी जाते..!! 

 

Kaha se lau main itne sabr,

Thode se tum mil kyu ni jate ..!! 

 

Gulzar ki shayari 

 

यूं भी एक बार तो होता की समुंदर बहता,

कोई एहसास तो दरिया की अन्ना का होता।  

 

Yoon bhi ek bar to hota ki samundar bahta,

Koi ehsas to dariya ki anna ka hota..!!

 

ये रोटियां है ये सिक्के है और दायरे है। 

ये एक दूजे को दिन भर पकड़ते रहते है। 

 

Ye rotiya hai ye sikke hai aur dayare hai,

Ye ek duje ko din bhar pakdte rahte hai..!! 

 

Gulzar ki shayari in hindi

 

दिल अब पहले सा मासूम नही रहा,

पत्थर तो नही बना, पर अब मोम भी नही रहा।।। 

 

Dil ab pahle sa masum nhi Raha,

Patthar to nahi bana, par ab mom bhi nahi raha…!!

 

दिल तो रोज कहता है मुझे कोई सहारा चाहिए,

फिर दिमाग कहता है क्या धोखा दोबारा चाहिए,।। 

 

Dil to Roz kahta hai mujhe, koi sahara chahiye,

Fir dimga kahta hai kya dhoka dobara chahiye…!! 

 

Gulzar shayari in hindi

 

हँसना हँसाना आता हैं मुझे,

मुझसे गम की बात नहीं होती,

मेरी बातो में मज़ाक होता हैं ,

मेरी हर बात मज़ाक नहीं होती..!!

 

Hasana hasana aata hai mujhe,

Mujhe gam ki bat nahi hoti,

Meri bato me majak hota hai,

Meri har bat majak nhi hoti..!!

 

अकेले रहने का भी

अपना ही सुकून है 

न किसी के आने की ख़ुशी 

न किसी के जाने का गम…!!

 

Akele rahne ka bhi

Apna hi sukoon hai,

Na kisi ke aane ki khushi 

Na kisi ke jane ka gam..!!

 

Two line Gulzar ki shayari 

 

जब भी ये दिल उदास होता है,

जाने कौन आस पास होता है। 

कोई वादा नहीं किया लेकिन,

क्यू तेरा इंतजार रहता है। 

 

Jab bhi ye dil udas hota hai,

Jane kaun aas pass hota hai,

Koi wada nahi kiya lekin,

Kyu tera intezar rahata hai..!!

 

Gulzar shayari on Life/ zindgi 

 

एक सुकून की तलाश में जाने कितनी बैचेनिया पल ली। 

और लोग कहते है कि हम बड़े हो गए है हमने जिंदगी संभाल ली..!! 

 

Ek sukoon ki talash main jane kitni becheni yaha pal li,

Aur log kahte hai hum bade ho gaye hai.

Humne zindgi sambhal li…!!

 

Gulzar shayari in hindi 

 

तेरे बिना ज़िंदगी से कोई शिकवा तो नहीं,

तेरे बिना ज़िंदगी भी लेकिन ज़िंदगी तो नही,

 

Tere bina zindgi se koi shikwa to nahi,

Tere bina zindgi bhi lekin zindgi to nahi…!!

 

Gulzar ki Shayari in hindi

 

टूट जाना चाहता हूं, बिखर जाना चाहता हूं,

में फिर से निखार जाना चाहता हूं 

मानता हूं मुस्किल है। 

लेकिन मैं गुलजार होना चाहता हूं…!! 

 

Tut jana chahta hoon, bikhar jana chahta hoon,

Main fir se bikhar jana chahta hoon,

Maanta hoon, muskil hai..! 

Lekin main Gulzar hona chahta hoon…!! 

 

 Gulzar ki zindgi par Shayari 

 

पूरे की ख्वाइश में ये इंसान बहुत कुछ खोता है ।

भूल जाता है आधा चांद भी खूबसूरत होता है। 

 

Pure ki khawish me ye insaan bahut kuch khoya hai,

Bhul jata hai, adha chand bhi khubsurat hota hai..!!

 

Best Gulzar Shayari 

 

मेरी खामोशी में सनाटा भी है और शोर भी है,

तूने देखा ही नहीं, आंखो में कुछ और भी है…!! 

 

Meri khamoshi me sanata bhi hai, aur shor bhi hai,

Tune dekha hi nahi ankho me kuch aur bhi hai..!!

 

Mohabbat par Gulzar Shayari 

 

वो मोहब्बत भी तुमरी थी वो नफरत भी तुमरी थी, 

हम अपनी wafa का इंसाफ किस्से मांगते..??

वो शहर भी तुमारा था वो अदालत भी तुमरी थी…!! 

 

Wo mohabbt bhi tumari thi wo nafart bhi tumaari thi,

Hum apni wafa ka insaf kisse mangte..??

Wo shahar bi tumara tha wo Adalat bhi tumari thi..!!

 

 Gulzar Life shayari

 

ना राज है, ज़िंदगी 

ना नाराज है ज़िंदगी, 

बस जो है वो आज है ज़िंदगी..!! 

 

Na Raj hai zindgi,

Na naaraj hai zindgi,

Bas jo hai wo aaj hai zindgi…!!

 

नही बदल सकते है हम,

खुद को औरों के हिसाब से,

एक लिबास हमें भी दिया है, 

खुदा ने अपने हिसाब..!!! 

 

Nahi badal sakte hai hum,

Khud ko auro ke hisab se,

Ek libas hume bhi diya hai,

Khud ne apne hisab se…!!

 

Zindgi Par Gulzar Shayari 

 

समेत लो इन नाजुक पलों को,

ना जाने ये लम्हे हो ना हो,

हो भी ये लम्हे क्या मालूम शामिल,

उन पलों में हम जो ना हो…!!! 

 

Samet lo in najuk palon ko,

Na jane ye lamhe ho na ho,

Ho bhi ye lamhe ho na ho,

Ho bhi ye lamhe kya maloom shamil

Un palon main hum jo na ho..!!

 

तकलीफ खुद की काम हो गई,

जब अपनो से उम्मीद कम हो गई..!!

 

Taklif khud ki kam ho gyi

Jab apno se umiid kam ho gyi,


Read More  

Badnam ishq shayari in Hindi

Dil छू जाने वाली शायरी

mohabbat kitni jaruri rahegi hogi 


Sad Gulzar shayari

 

दर्द की भी अपनी एक अदा है,

वो भी सहने वाले पर फिदा है…!! 

 

Dard ki bhi apni ek ada hai,

Wo nhi sahane wale par fida hai..!!

 

तुझे बेहतर बनाने की कोशिश में

तुझे ही वक़्त नहीं दे पा रहे हम,

माफ़ करना ऐ ज़िन्दगी

तुझे ही जी नहीं पा रहे हम। 

 

Tujhe behatar banne ki koshish main,

Tujhe hi waqt nhi de pa rhe hai hum

Maf karna e zindgi,

Tujhe hi jee nhi pa rhe hai hum…!!

 

Gulzar shayari in hindi

 

जब मिला शिकवा अपनों से तो खामोशी ही भली,

अब हर बात पर जंग हो यह जरूरी तो नहीं…!!! 

 

Jab mila shikwa apno se to khamoshi hi bhali,

Ab har bat pe jang ho yah jaruri to nahi…!!

 

न जाने ये किस तरह का 

इश्क कर रहे है हम 

जिनके हो नहीं सकते 

उसी के हो रहे है हम 

 

Na jane ye kis tarah ka

Ishq kar rhe hai hum,

Jinke ho nahi sakte,

Usi ke ho rahe hai hum 

 

आज हम जो भी shayari सुनते है उसमे कही न कही आपको gulzar shayari मिल जायेगी। Gulzar ki shayari का बहुत deep meaning होता है। आपने अगर इन सब को पढ़ लिया है तो आपको जरूर पसंद आया होगा।

आपका हमारे लिए कुछ सुझाव या फिर शायरी हो तो आप हमे भेज सकते है । और प्यार सा एक कमेंट हमे जरुर भेजे ।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.