Best narazgi shayari in Hindi 2023

नमस्कार दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम narazgi shayari in Hindi जिसमे हम प्यार से संबंधित सारी all hindi shayari पढ़ेंगे । नाराजगी को जताना चाहते है तो आपको मिलेगा और आप अपने दोस्तों को या अपने नाराज friend को भेज सकते है ।।

प्यार में कही बार दो प्रेमियों की लड़ाई होती है तो एक दुसरे को नाराजगी दिखाते है । जिसके के लिए हमने इन शारियों के अंदाज में लिख दिया है ।आपको हमारे द्वारा बनागया कलेक्शन अच्छा लगेगा। इसमें है तरह से आपको शहरी मिलेगी।। जिसे पढ़ के आप अपनी ही नाराजगी से रिलेटेड हो जाओगे।

 

Narazgi shayari

 

वो हमारा कमरा नही नाराज है ।

मेरी पूरी जिन्दगी भी नाराज है तुमसे।।

 

Wo hamara Kamara nahi naraj hai

Meri puri zindgi bhi naraj hai tumse..!!

 

तेरी यादों के जाल में

रोज खुद को को दिया करती हूं

जब भी याद आती है ।

में रो दिया करती हूं।।

 

Teri yaadon ke jal me

Roz khud ko kho diya karti hoon

Jba bhi yaad aati hai me ro diya karti hoon.!!

 

Narazgi shayari in hindi

 

हमारे बीच की दूरी है बेशक। इसका मतलब ये नही ।

थोड़े से इश्क के लिए कही और चला जाऊ

 

Hamare bich ki doori hai beshak iska matlab ye nahi

Thode se ishq ke liye khai aur chala jau ..!!

 

Read More

two line love shayari in hindi 

Romantic love shayari in hindi

sad status in hindi 

Khushi Shayari in Hindi

 


Funny narazgi shayari

 

नाराज है मुझसे तो क्यों मेरी dp को चेक करती है ।

ना करना msg तो फिर बार बार टाइपिंग ऑन kyu करती है ।

 

Naraj hai mujhse to kyu meri dp ko check karti hai.

Na karna msg to fir bar bar typing on kyu karti hai..!!

 

Naraz shayari

 

उसकी हर गलती को भूल जाती हूं।

जब्बू मासूमियत से पूछता है , तू नाराज ना होया कर।।

 

Uski har galti ko bhul jati hoon

Jab masumiyat se puchta hia tu naraz na hoya kar..!!

 

माना की याद आ रही है । लेकिन उसूलों की बात नही है ।

नाराज हम भी है । इतनी भी बड़ी कोई बार नही है ।।

 

Mana ki yaad aa rahi hai lekin usulon ki baton nahi hai ,

Naraj hum bhi hua itni bhi badi koi bae nahi hi…!!

 

Funny naraz shayari

 

तू भी ऑनलाइन है मैं भी ऑनलाइन हूं

दोनो छुप छुप कर देख रहे है । नो टाइपिंग नो टाइपिंग।।

 

Tu bhi online hai main bhi online hai .

Dono chup chup kar dekh rahe hai . No typing no typing..!!

 

Naraz shayari in hindi

 

खामोश हो जाना चाहिए खुद को

जब अपने को अपने शब्दो में बुराई दिखे।।

 

Khamosh Ho Jana chahiye khud ko

Jan apne ko apne shabdo me burai dikhe..!!

 

ये देखो कल क्या हाल मैं बैठो हो।

नाराज होके देखो किस मीना बाजार से बैठे हो ।

 

Ye dekho kal ky shal main baithe ho ,

Naraj hoke dekho kis mina bazar se baithe ho..!!

 

Narazgi shayari in hindi

 

देखा है ज़िंदगी मनाने को कुछ

इतने करीब से लगने लगे है

तमाम चहरे अजीब से।।

 

Dekha hia zindgi manane ko kuch

Inte karib se lagane lagi hai .

Tamam chhare ajib ho .!!

 

तुम जब ऐसे चुप हो जाते हो ।

दिल में हलचल होने लग जाती है।।

 

Tum jab ese chup ho jate ho

Dil me halchal hone lag jati hai ..!n

 

Narazgi shayari

 

उससे नाराज हूं मैं उसने मनाया भी नही ।

वो लोगों से कहता फिरता है बेवफा हूं मैं ।।

 

Usse naraj hoon main usne manaya bhi nahi

Wo logon se kahta firta hia bewafa hoon main..!!

 

मत पूछो कैसे गुजरता है हमारे दिन जब

तुमसे बार करने की हसरत और देखने की चाहत हो।।

 

Mt pucho kaise gujarta hai hamare din jab

Tumse bar karne ki hasrat aur dekhne ki chahat ho..!!

 

 

Narazgi shayari in hindi

 

जब नफरत करते तुम थके नही ।

चलो एक मौका प्यार का भी देके देख लो।।

 

Jab nafrat karte tum thake nhi

Chalo ek mauka pyar ka bhi deke dekh lo .!!

 

कुछ नाराजगी सिर्फ गले लगने से ही

सही हो जाती है । समझाने से नही ।।

 

Kuch narajagi sirf gale lagne se hi

Sahi ho jati hai samjhane se nahi..!!

 

तू एक नजर हम को देख ले

बस इस आस में कब से बेकरार बैठे है ।।

 

Tu ek nazar hum ko dekh le

Bas is aas me kb se bekarar baithe hai ..!!

 

झगड़ा तब होता है जब शिकायत होती है ।

और शिकायत उनसे होती है जिनसे प्यार होता है ।

 

Jhagada tab hota hai jab shikayat hoti hai .

Aur shikayat unse hoti hai jinse pyar hota hai ..!!

 

आज दिल भी धमकियां देने लग गया है ।

करो उसे याद वरना धड़कना छोड़ दूंगा ।।

 

Aaj dil bhi dhamkiya dene lag gaya hai ,

Karo use yaad warna dhadkata chhod dunga..!!

 

कोई टूटा है टूटने दो हर बार जोड़े हम क्यों ।

रिश्ता हमारा है तो क्या हक उनका भी बनता है ।।

 

Koi tuta hia tutne do bar bar jode hum kyun,

Rishta hamara hai to kya hak unka bhi banta hai..!!

 

नाराजगी तो सही है । लेकिन ये

किसी और को आना नही जमता।।

 

Narazgi to sahi hau lekin ye

Ksui aur ko aana nahi jamna..!!

 

मुझे लगता है नाराजगी जताई नही जाति है ।

दिखने वाला चाहिए दिल की धड़कन समझ जाती है ।।

 

Mujhe lagta hai narazgi jatai nahi jati hai .

Dikhane wala chahiye dil ki dhadkane samjh jati hai ..!

 

नफरत समझो तो एक अधूरा किस्सा हूं ।

मुहब्बत करोगे तो तुम्हारा ही हिस्सा हूं मैं।।

 

Nafrat samjho to ek adhura kissa hoon,

Mohabbt karoge to tumhara hi hissa hoon main..!!

 

बाते हवाओ में नही करते है ।जिनसे है

नाराज उन्हें हर वक्त अहसास दिलाते है ।।

 

Hate hawao me nahi karte hai jinse hai

Naraz unhe har waqt ahsas dilate hai ..!!

 

हमसे है शिकायत बेशक रख।

लेकिन तेरी मेरी है । किसी और को मार दस ।।

 

Humse hai shikayat beshak rakha

Lekin teri meri hai kisi aur ko mat das..!!

 

जिन्दगी का ये हुनर भी कभी आजमाना चाहिए

जंग अपनो में या अपनो से हो तो हार जाना चाहिए ।।

 

Zindgi ka ye hunar bhi kabhi ajmana chahiye

Jang apno me ya apno se ho to har jana chahiye …!!

 

हवा और आंधियों का मौसम है।

लगता है ।आज फिर महबूब का मन है ।

लगता है कुछ होगया है या भूल गए है ।

ठंडी रात और ठहरा सा दिन लगता है ।

फिर से नाराजगी का मन है ।।

 

Hawa aur aandhiyon ka mausam hai

Lagta hai aaj fir mohabbat ka man hai

Lagta hai kuch ho gaya hai ha bhul gyaw hai..

Thindj raat aur thahra sa din lagta hai

Fir se narajgi ka man hau ..!!

 

भूल जाऊ हो नही सकता है ।

तुझे मेने नही मेरे दिल ने चुना है ।।

 

Bhul jau ho nahi skta hai

Tujhe mene nahi mere dil ne chuna hai ..!!

 

मुझे खुद से दूर कर कई और को दिल में बसाया ही क्यों

और वो अब ये तू सोच हमारे बीच कोई तीसरा आया ही क्यों।।

 

Mujhe khud se door kar Kai aur ko dil me basaya hi kyun

Aur wo ab ye tu soch hamare bich koi tisra ayaa hi kyu..!!

 

कुछ इस तरह वो रिश्तों की नुमाइश करती है

खुदको अच्छी दिखाने के लिए प्यार की बुराई करती है ।।

 

Kuch is tarah wo rishton ki numaish karti hai

Khudko achhi dikhane ke liye pyar ki burai karti hai ..!!

 

तू हर सांस के साथ मुझे याद आती है ।

कैसे रोकूं तुझे अब क्या सांस भी न लू मैं।।

 

Tu har sans ke sath mujhe yaad aati hai ,

Kaise Roku tujhe ab kya sans bhi na lu main..!!

 

बेशक मुझपे गुस्सा करने का हक है तुम्हे

पर नाराजगी मैं हमारा प्यार मार भूल जाना सनम।।

 

Beshak mujhpe gussa karne ka hak hai tumhe

Par narazgi main hamara pyar mar bhul jana Sanam..!!

हमे उम्मीद है आपको हमारी पोस्ट narazgi shayari in hindi जरूर पसंद आई होगी । जिसमे आपको भी आपकी नाराज शायर का sms मिल गया होगा। अगर आपको कोई शायरी पसंद आई हो तोबाप नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर pin करे ताकि हम भी आपका फीडबैक मिल सकते।। और हमारे लिए कोई सुझाव हो या किसी भी प्रकार की जानकारी हो तो हमे जरूर बताएं ।।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.