Khushi shayari in hindi

Start Reading

Khushi Shayari 

दिल में खुशी हो तो छलक जाती है,मुस्कुराहटें बजह की मोहताज नहीं होती।

Khushi Shayari 

खुशी मिली तो कई दर्द मुझसे रूठ गए,दुआ करो की मैं फिर से उदास हो जाऊं।

Khushi Shayari 

उसके हाथों का खिलौना ही सही खुश हूँ मैं,कुछ देर के लिए ही सही मुझे चाहता तो है।

Khushi Shayari 

दिल दे तो इस मिज़ाज का परवरदिगार देजो रंज की घड़ी भी ख़ुशी से गुज़ार दे !!

Khushi Shayari 

माँग कर तुझ से ख़ुशी लूँ मुझे मंज़ूर नहींकिस का माँगी हुई दौलत से भला होता है !!

Khushi Shayari 

तेरी निगाहों से, दूर जा रहे हैं,खुदा से सिर्फ तेरी ख़ुशी चाह रहे हैं।

Thanks for watching our web story 
Stay tune!!

Start Reading